Magic Leap 2
Cryptocurrency News Hindi

Magic Leap 2

Sharing is caring!

Table of Contents

Magic Leap 2 क्या है

दोस्तों आपने हमारे पुराने पोस्ट में Metaverse के बारे में तो आपने पढ़ा ही होगा, उस पोस्ट में हमने बताया था कि मैंटावर्स के अंदर अगर आप कोई काम करना चाहते हैं या घूमना फिरना चाहते हैं तो उसके लिए आपको एक हेडसेट की जरूरत होगी जो कि आपकी आंखों के ऊपर लगा होगा जैसे कि आज के नार्मल AR और VR डिवाइसइस होते हैं , उन्हीं डिवाइस में से एक बेहतरीन डिवाइस है ocillius जो कि फेसबुक द्वारा बनाया गया है, लेकिन जिस डिवाइस कि हम आज बात करने वाले हैं वह एडवाइस दुनिया में सबसे बेहतर माना जाना है, क्योंकि यह आपको एक नई ही दुनिया में ले जाता है और कुछ ऐसे अनुभव करवाता है जो आपने आज तक कभी नहीं किया होंगे

साथ ही में इस प्रोजेक्ट में मेडिकल क्षेत्र में एक नया ही आयाम खोल दिया है जिसके द्वारा अब डॉक्टर बेहतर तरीके से सर्जरी को समझ पाएंगे और उसे कर पाएंगे यही नहीं अगर हम बात करें Mechanical Engineering इनकी तो उसमें भी Magic Leap 2 प्रोजेक्ट ने काफी दमदार प्रस्तुति प्रकट की है, आपने Iron Man तो देखी होगी उस मूवी के अंदर Tony Stark जिस तरीके से अपने हथियार और सूट को Design करता है, और नए परमाणुओं की खोज करता है बिल्कुल उसी प्रकार की टेक्नोलॉजी अब Magic Leap 2 दुनिया के सामने ला रहा है.

Video Source By Magic Leap 2 official Website

Magic Leap 2 की ऑफिशियल वेबसाइट Link

Magic Leap 1

आपको हम बता दें कि Magic Leap 1 ने अपने ओरिजिनल हैंडसेट की लांच पर 4 साल पहले बहुत सारी सुर्खियां बटोर ली थी , AI और AR की मदद से आर्टिफिशियल ऑब्जेक्ट्स को जब हम 3D रियल वर्ल्ड में दिखते है वह भी हेडसेट डिवाइस की मदद से , इसी तकनीक को AR (Argument Reality ) कहा जाता है , लेकिन उस समय Magic Leap अपने चहेते हैंडसेट को ज्यादा सेल नहीं कर पाया था , वह भी तब जब बहुत सारी बड़ी कंपनियों का पैसा इसमें लगा हुआ था और काफी रिसर्च भी इसके ऊपर की गई थी,

इसी कारण कंपनी ने इसके डिजाइन पर दोबारा विचार विमर्श किया और फिर एक बेहतरीन लैब में विकसित किया हुआ डिजाइन दुनिया के सामने प्रस्तुत किया जिसे Magic Leap 2 का नाम दिया गया है.

क्या Magic Leap नया वर्जन इसकी पुरानी नाकामियों से ऊपर उठ पाएगा आइए जानते हैं

हम इसकी खूबियों को देखते हुए इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं की Magic Leap 2 जो काम कर दिखाया है वह अभी तक किसी और दूसरे हैंडसेट ने नहीं किया है माना जा रहा है कि फेसबुक भी अपने हेडसेट्स को छोटा करने की कोशिश कर रहा है और हो सकता है की आने वाले वक्त में वह भी इन खूबियों को अपने हेडसेट में ऐड कर पाए लेकिन अभी के समय में जो काम Magic Leap 2 ने जो फीचर्स और समाधान दुनिया के सामने रखे हैं उससे तो यह लग रहा है कि उसकी कंपटीशन किसी दूसरी कंपनी से ना होकर खुद के बनाए हुए पहले प्रोडक्ट से है

मैजिक लीप 2 का डिजाइन


पिछले वर्ष के मुकाबले Magic Leap 2 में काफी बदलाव किए गए हैं जिसमें glasses का छोटा होना और view क्वालिटी को सुधारने की तरफ काफी ध्यान दिया गया है
नए glasses काफी छोटे और काफी चौड़ाई में देखने की सुविधा प्रदान करते हैं .
इसका AR दिखाने वाला मैकेनिज्म काफी साफ और crisp दृश्य को दिखाता है जो कि अन्य किसी AR/VR Glasses में अभी तक मौजूद नहीं है .

और अगर हमने इसके डिजाइन की बात करें तो यह अपने प्रतिद्वंदी होने से काफी अलग है और यह कहना गलत नहीं होगा की लिप 2 ने सबको smaller Design and finishing मैं सबको पीछे छोड़ दिया है.
और अब Magic Leap 2 कुछ-कुछ डार्क ग्रे गूगल क्लासेज कैसा दिखता है.
लेकिन इसका डिस्प्ले गूगल ग्लास की तुलना में बहुत अलग है Liquid crystal on silicon (LCoS) डिस्प्ले लोगों को होलोग्राफिक इमेजेस को अपने आसपास देखने में मदद करता है.

आम गूगल glasses से अलग लिप टू में , चश्मे में बैटरी और प्रोसेसर रखने के बजाय, आईवियर एक गोलाकार पक-जैसे कंप्यूटर से जुड़ता है, जिसे या तो उपयोगकर्ता के कपड़ों से जोड़ा जा सकता है या कंधे के पट्टा की मदद से पहना जा सकता है
इसके प्रोसेसर और बैटरी को अलग रखने इसका बाहर काफी कम हो जाता है जो की गर्दन और सर के लिए काफी आरामदायक है तथा जितने भी हेडसेट्स अभी तक दुनिया में उपलब्ध है उन सब में यह आराम के मामले में सबसे उत्तम है,

Magic Leap 2 इस बार AMD -आधारित प्रोसेसर का उपयोग करता है, जो कंपनी का दावा है कि पहले लीप वन हेडसेट में इस्तेमाल किए गए प्रोसेसर NVEDIA -आधारित चिप की तुलना में अधिक शक्तिशाली है।

लेकिन अगर हम एक माइक्रोसॉफ्ट Holo Glass की खूबी पर ध्यान दें , उसमें हम डॉक्टर द्वारा डिस्क्राइब चश्मे के ऊपर भी उसे पहन सकते हैं , लेकिन मैजिक लिप टू में हम ऐसा नहीं कर सकते इसकी क्षतिपूर्ति करने के लिए ml2 ने एक अलग से कलेक्टिव Slide Glass बनाया है जोकि ml2 के Glasses को आंखों के करीब रखता है और फोकस को बिगड़ने नहीं देता .

Magic Leap 2 के एसेसरी के साथ फोटो

Magic Leap 2



आइए Magic Leap 2 मै जो विशेषताएं है उन्हें हम आपके सामने रखते हैं

1. डायनेमिक डिमिंग


ocillius टू के नजरिए से अगर हम इसे देखें तो तो यह हमें उससे ज्यादा गहराई में उतरने वाला अनुभव प्रदान करता है और जिन लोगों ने और occilus को यूज किया है वह लोग भली भांति जानते हैं कि उसमें होने वाला अनुभव भी कितना बेहतरीन और रियल फील होता है
मैजिक लीप 2 का देखने का क्षेत्र (एफओवी) 70 विकर्ण डिग्री है, जबकि जबकि दूसरे बेस्ट वीआर ग्लासेस सिर्फ 50 डिग्री का है (एलओवी) प्रदान करते हैं

एआर ग्लास के लिए वास्तव में जो मायने रखता है वह यह है कि वे उपलब्ध एफओवी का अधिकतम लाभ उठा सके, और यह मैजिक लीप 2 की सबसे मजबूत विशेषताओं में से एक है।
और यह सब संभव हो पाया है डायनामिक डिमिंग नामक एक नई सुविधा के कारण.

लिप टू की एक खासियत यह है कि यह कम उजाले में भी बहुत बेहतरीन तरीके से असली दुनिया में जो चित्र है उन्हें स्क्रीन पर प्रकट करता है जिस कारण होलोग्राफिक इफेक्ट बहुत ही साफ और कुकुरा नजर आता है

मैजिक लेंस का दावा है कि यह सुविधा उपयोगकर्ताओं को स्लाइडर्स की मदद से चश्मे को बदलने में सक्षम बनाती है,
इस लाइन का मतलब यह है कि आप समय-समय पर फ्लाइट की मदद से अपने देखने की पावर को बदल सकते हैं मान लीजिए किसी वजह से आपके चश्मे का नंबर बढ़ गया और आपने चश्मा का लेंस अभी चेंज नहीं किया लेकिन मैजिक लेंस आपको यह करने की पूरी संभावनाएं प्रदान करता है क्योंकि इसमें स्लाइडर लेंस लगे हैं


2. ट्रैकिंग और ऑडियो


पहले वाले मैजिक लेंस वर्जन में एक आंख पर एक ट्रैकिंग कैमरा होता था लेकिन ml2 में यह बढ़ाकर दो कर दिया गया है मतलब अब एक आंख को ट्रैक करने के लिए दो ट्रैकर कैमरा लगाए गए हैं जोकि इमेज क्वालिटी को बढ़ाते हैं और रेंडरिंग में होने वाली गलतियों को बहुत ही कम कर देते हैं
यह डिवाइस 3डD पोजिशनल ऑडियो का भी बुद्धिमानी से उपयोग करता है, जोकि वीआर हैंडसेट में एक मुख्य फीचर है और साथ ही में ही एप्पल जैसे एयरपोर्ट्स में पाया जाता है और उनका भी एक मुख्य पिक्चर बन चुका है.

मैजिक्लिप टू का 3D ऑडियो मल्टीपल कन्वर्सेशन में किसी भी ऑडियो को ट्रैक करने की सुविधा देता है जिस कारण यूजर मेटा वर्ष में या कहें रियल 3डी वर्ल्ड में जिस तरफ अपना ध्यान केंद्रित करता है उसी तरह की ऑडियो उसे बाकी सारी मल्टीपल ऑडियो मैं से क्लियर सुनाई देने लगती है यह फीचर इस प्रोडक्ट को दुनिया के सभी प्रोडक्टों से अलग स्थान देता है

मैजिक लीप 2 अपने नियंत्रकों में बेहतर ट्रैकिंग का भी दावा करता है। जबकि मूल उत्पाद अपने नियंत्रकों के आंदोलनों को ट्रैक करने के लिए विद्युत चुम्बकीय क्षेत्रों पर निर्भर था, मैजिक लीप 2 ने हेडसेट-आधारित सेंसर और वास्तविक नियंत्रक में लगे कैमरों दोनों से इनपुट को जोड़कर ऑप्टिकल ट्रैकिंग का उपयोग करने के लिए स्विच किया है।


Magic Leap 2 release date and price

हम आपको यह बताते हैं कि कंपनी अभी अपने इंटरप्राइजेज Users पर अपनाध्यान केंद्रित किए हुए हैं और उन्हें इसकी डिटेल दे रही है ,
शुरुआत में हम इसके प्राइस के बारे में कुछ जानकारी देते हैं कंपनी के अनुसार इसका शुरुआती प्राइस 2223 डॉलर रहेगा, जोकि इंडियन रुपए में 160000 के करीब है,

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *