भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स
Cryptocurrency News Hindi

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स पर संपूर्ण जानकारी | Complete knowledge on Crypto tax India -115BBH

Sharing is caring!

Table of Contents

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स में आभासी मुद्राओं के विषय में , 30% आयकर पर कई शंकाएं व भ्रम बने हुए हैं । आईये एक एक कदम चलके , इसे हम आपके लिए दूर करते हैं ।   सबसे पहले आप यह जान लें , कि  1 अप्रैल 2022 से भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स को लेकर नियम लागू हो जाएंगे अगर आप कृप्टोकरसीं में व्यापार-निवेश कर रहे हैं या क्रिप्टो में खुदाई अर्थात माइनिंग कर रहे हैं या एयरडरोप  पर दावा कर रहे हैं या आपका आभासी मुद्रा में वेतन आ रहा है क्रिप्टोकरंसी के क्षेत्र में काम करने वाले यह ठीक से जान लें कि यह आपके साथ कैसे लागू होंगे इसे हम एक-एक कदम पर स्पष्ट करेंगे इसे हम विस्तार से समझाएगे कि भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स नए नियम कैसे लागू होंगे और बजट में क्या प्रावधान किए गए हैं उसके बारे में जो भ्रम है उसे दूर करेंगे आपकी जो भी शंका है उसका हल निकालेंगे अब हम बजट का सबसे पहला प्रावधान स्पष्ट करेंगे क्रिप्टोकरंसी में जब भी आपको लाभ होगा फायदा होगा तब आपको 30% आयकर देना ही पड़ेगा दूसरा अगर आपको हानि होती है नुकसान होता है तो उसे सरकार को कोई मतलब नहीं है बजट में नुकसान को पूरी आपके ऊपर छोड़ दिया है उससे सरकार को कोई लेना देना नहीं है अगर आपने कोई क्रिप्टोकरंसी  खरीदी है और बेचने वाला भारत का निवासी है उस पर आपको 1% TDS जमा करना पड़ेगा एक और बात आप साफ-साफ समझ ले की भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स के नियमों के अनुसार खरीदगारी की कीमत (purchase price) को छोड़कर किसी भी तरह की कटौती ( deduction ) की आपको अनुमति नहीं होगी चाहे वह दलाली देकर ही लिया गयी हो , चाहे बिजली का खर्च क्यों ना हो कोई भी कटौती लागू नहीं होगी किसी भी सूरत में आपको हुए नुकसान या हानि को किसी भी सूरत में आप के लाभ के साथ या फायदे के साथ समायोजित (setoff) नहीं किया जा सकता और आपको 30% आयकर हर हाल में देना ही पड़ेगा  अगर आपकी कृप्टोकरसीं चोरी हो जाए या कोई हैकर उसे हैक कर ले और आप को नुकसान हो जाए जो भी आपको जो लाभ मिल चुका है  मिल चुका है उसमें आपको हर हाल में 30% आयकर देना ही पड़ेगा|  अगर आपको क्रिप्टोकरंसी खरीदने के लिए किसी को दलाली देनी पड़ी हो या किसी को ब्याज देना पड़ा हो या आपका बिजली का खर्च हुआ हो उस पर किसी भी प्रकार से कटौती नहीं मिलेगी  संसद में पेश बजट बिल की भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स (115BBH ) अनुसार हम इस  कृप्टोकरसीं करेंसी के विषय में प्रस्तुत * ट्रांसफर * शब्द की व्याख्या करेंगे । * ट्रांसफर * का अर्थ है  ” एक से दूसरे को पैसा ” । भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स आयकर प्रावधान के अनुसार ये तीन दशाओं में लागू होगा ( 1) अगर  हम क्रिप्टोकैरसीं को बेचते हैं (2) अगर हम  कृप्टोकरसीं को बदलते (Exchange ) हैं । (3) अगर हम कृप्टोकरसीं को किसी को आभासी-संपत्ति यू ही सौंप देते हैं बिना किसी लाभ हानि के और उससे कोई मतलब नहीं रखते । इन तीनों स्थिति में कृप्टोकरसीं के *ट्रांसफर* ( Transfer  ) के नियम लागू होगे । पहले यह समझ लें 

°  30% फलैट आयकर हर लाभ (Profit ) पर लगेगा 

°   1% टी डी एस हर व्यापार/ ट्राॅजक्शन पर (जुलाई 2022 से लागू )

°   कोई कटौती नहीं

°   नुकसान (loss) का कोई समायोजन (setoff ) नहीं

अब निम्नलिखित अनुसार सारे विषयों को स्पष्ट करेंगे :

-1. व्यापार/निवेश(Trading/Investing  )

2. खनन( Mining )

3. वेतन( Salary  )

4. परामर्श( Consultancy )

5. एयरडरोप( Airdrops )

6. कृप्टो-उपहार( CryptoGift )

7. कृषि ब्याज इत्यादि(Yield Farming ,Staking ,Lending Inter

8. एनएफटी ( NFT )

9. उधार देना ( Borrowing )

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स – कृप्टोकरसीं कर निर्धारण

TAX-IMAGE-GIF


(1) व्यापार और निवेश ( Trading & Investment )


कृप्टोकैरसी में व्यापार व निवेश इसमें 1अप्रैल से आपको  30 % फ्लैट दर से आयकर लगेगा । आयकर केवल लाभ (profit)  पर होगा कटौती की अनुमति केवल खरीदी कीमत ( purchased price ) पर होगी दलाली, ब्याज और रॉयल्टी पर कोई भी कटौती नहीं होगी और भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स इनकम टैक्स रिटर्न में उसे कैपिटल लाभ (Capital gain) के रूप में घोषित किया जाएगा अगर आय के अनुसार कोई सरचार्ज  लागू होता है तो वह भी लगेगा और उस पर 4 परसेंट सेस भी लगेगा अगर आपकी आय 50 लाख से ऊपर होती है और एक करोड़ से कम होती है तो उस पर सर चार्ज लगेगा 10% और उस पर चार पर्सेंट का सेस लगेगा कुल इनकम पर और यह सब उस 30 % टैक्स से अलग होगा अगर आपने बिटकॉइन (BTC) में ₹1000 का लाभ कमाया और ईथीरियम में ( 500  ) हानि हुई तो आपको 1000 पर 30% का टैक्स देना ही पड़ेगा और जो आपको हानि हुई , उसकी उस पर कोई भी कटौती नहीं मिलेगी ।अगर आपकी कुल आय 50 लाख से अधिक है और 1 करोङ से कम है तो 10 % सरचार्ज लगेगा ।अगर आपने कृप्टोकरसीं में 10 लाख कमाया तो उस पर 3 लाख आयकर लगेगा फिर उस 3 लाख पर 10 % सरचार्ज लगेगा । कुल राशि पर 4% सेस लगेगा । यह 4% सबको लगेगा । लेकिन सरचार्ज केवल 50 लाख से अधिक की आय पर ही लगेगा ।यह आयकर  साल के अंत में ही जमा होगा
• कर 30% + सरचार्ज (Surcharge) + 4% सेस (cess)

• कर * केवल लाभ (Profit) पर

• कटौती की अनुमति केवल खरीदी कीमत ( purchase price ) पर

दलाली , (Brokerage ) ब्याज ( Interest) रायल्टी (Royalty) इत्यादि कटौती नहीं मिलेगीइसकी घोषणा आईटीआर ( ITR ) मे कैपिटल लाभ के रूप में करें ।


(2) खनन ( Mining)


भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स – अब हम खनन (Mining)  की बात करेंगे अगर हम क्रिप्टोकरंसी में खनन (Mining) करते आभासी मुद्रा का खनन * ट्रांसफर * की तीनों श्रेणियों में , किसी भी श्रेणी में नहीं आता अतः खनन ( Mining )  पर 30 % कर नहीं लगेगा । खनन अर्थात माइनिंग करने से हमें जो रिवार्ड ( Reward ) मिलेगा । जिस तिथि को रिवार्ड मिलेगा उस तिथि के मूल्य के अनुसार अगर वह कर योग्य होगा ( Texable ) तो उस पर आय के अनुसार कर लगेगा इसमें सामान्य व्यापार के अनुसार कर लगेगा और इसमें हुए खर्चों पर कटौती लागू होगी अगर हम उसको बेचते तो तो ही उस पर 30 % फ्लैट रेट लगेगा अगर हम उसको बेचते तो लाभ होने पर 30 % आयकर लगेगा । अतः खनन ( Mining ) पर दो प्रकार के कर लगेगें :
1. खनन से होने वाली आय (रिवार्ड ) पर , उस तिथि के बाजार मूल्य के अनुसार  सामान्य कर लागू होगा 
और उस पर हुए खर्च पर कटौतियां ( deduction ) मिलेगी ।…
2. कृप्टोकरसीं को बेचने पर अगर लाभ (Profit )होता है तो उस पर 30% कर लगेगा । जिस तिथि को खनन रिवार्ड मिला और जिस तिथि को बेचा दोनों तिथियों के बाजार मूल्य में अन्तर से अगर लाभ (Profit)होता है तो 30% कर लगेगा । 1% टीडीएस खरीदने वाले पर लगेगा ।


(3) वेतन ( Salary) पर दो प्रकार के कर लगेगें :

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स –
1. जिस तिथि को वेतन मिला उस तिथि को उसके बाजार 
मूल्य के अनुसार सामान्य आयकर के आधार पर ही आयकर लगेगा । सलैब की दर के अनुसार लगेगा ।
2. कृप्टोकरसीं को बेचने पर , अगर लाभ  हो तो 30% आयकर लगेगा       1% टीडीएस खरीदने वाले पर लगेगा ।


(4) परामर्श ( Consultancy )

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स –
इसमें भी पहले की तरह जिस तिथि को कृप्टोकरसीं मिली है उसकी बाजार मूल्य के अनुसार से सामान्य दर से आयकर लगेगा ।
इसमें भी खर्चो पर कटौती मिलेगी
कृप्टोकरसीं को बेचने पर * लाभ * होने पर 30% आयकर लगेगा और खरीददार द्वारा 1% टी डी एस ( TDS) भरा जाएगा ।


(5) एयरडोर्पस ( Airdrops )

   भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स – एयरडरोप में भी दो प्रकार के आयकर लागू होगे :
1 जिस तिथि पर एयरडरोप मिले , उस तिथि पर उसके बाजार मूल्य के अनुसार सामान्य आयकर लगेगा
2. एयरडरोप को बेचने पर , लाभ होने पर , उस पर 30% आयकर लगेगा
अगर उसका कोई मूल्य नहीं है , कर केवल तभी देना पङेगा जब बेचेगे ।

(6) कृप्टोकरसीं में उपहार ( Gifts )


यहां भी दो प्रकार के कर लगेगें
 (A) कृप्टोकरसीं को रक्त संबधों ( Blood Relation) में उपहार के रूप में देने पर आपको कोई कर नहीं देना होगा कर नहीं लगेगा अर्थात सगे भाई – बहन व माता – पिता को कोई कर नहीं देना होगा अगर वे उसे बेचेगे तो पहले मालिक की खरीद मूल्य को देखते हुए , उससे अधिक की राशि पर ही 30% कर देना होगा । अगर उपहार 50 हजार से अधिक राशि का है ।
( B) दूसरों को उपहार देने पर , आपको कोई कर नहीं देना होगा , एक साल में 50 हजार रुपये से कम के उपहार पर कोई कर नहीं देना होगा , पचास हजार से अधिक के उपहार पर ही आयकर लगेगा । जब वो बेचता है बेचने पर ही 30% आयकर लगेगा

(7)Yield farming , Staking , Lending , Interest


भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स – इसमें भी दो प्रकार के टैक्स लगेगें :
 1. जो रिवार्ड (Rewards ) हमें मिलते हैं ,जब रिवार्ड मिला, हमें कोई कर नहीं देना है ।
 हमें खर्च (Expenses ) कटौती ( Deduction ) मिलेगी । 
2. जब  भी हम कृप्टोकरसीं को बेचेगे उस लाभ पर  30% कर लगेगा ।     इसकी जानकारी घोषणा हम दावे ( Claim ) के बाद करें।


(8) एन एफ टी (NFT)

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स

NFT TAX

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स
• इसमें सीधे 30% आयकर लगेगा + सरचार्ज + 4% सेस 
• कटौती ( Deduction ) केवल * खरीद मूल्य * ( Purchase price )   पर मिलेगी
• आयकर केवल लाभ ( Profit ) पर लगेगा ।
• दलाली ( Brokerage ) , रायल्टी  इत्यादि पर कोई कटौती (Deduction ) नहीं मिलेगी
•  ITR में इसे कैपिटल लाभ (Capital gain ) में दिखाए

(9) उधार लेना ( Borrowing )

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स
• उधार लेना और वापस (Repayment) करने पर कोई आयकर नहीं लगेगा
• अगर उस उधार लेकर व्यापार करते हैं तो लाभ मिलने , उस पर 30%आय कर देना पङेगा ।
अगर आप उस उधार की राशि को उचित तरह से उपयोग करते हैं उसे रोक कर( hold) रखते हैं , छोटा मोटा खर्च कर सकते हैं । उसे कैश (Cash ) करते हैं तो उस पर कोई कर नहीं लगेगा । 

प्रश्न व उत्तर ( Q & A )

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स


Q -A. अगर बिटकॉइन में $1000 डालर का लाभ कमाया और फिर वॉलेट हैंग हो गया या चोरी हो गया फिर भी मुझे टैक्स देना पड़ेगा ?

Ans :- जी हां आपको 30% आयकर देना पड़ेगा


Q-B. अगर मैं D-Centralized एक्सचेंज का इस्तेमाल करूं तो क्या सरकार को इसका पता लग जाएगा ?

Ans:- सामान्य तौर पर तो नहीं पता लगेगा , लेकिन सरकार अगर चाहेगी तो पता लगा ले और आपको सभी तरह का भुगतान भी भरना पड़ जाएगा


Q-C. क्या एनएफटी ( NFT )पर जीएसटी (GST) लगेगा , अगर मैं खुद का एनएफटी सम्पत्ति सृजन ( Create ) करूं ?

Ans:-जी हां , एनएफटी (NFT) पर जीएसटी (GST ) लगेगा 


Q-D. अगर मैं अपने एक्सचेंज से अपने वॉलेट में ट्रांसफर करता हूं तो क्या मुझे टैक्स लगेगा ?

Ans:- नहीं ,आपको कोई टैक्स नहीं लगेगा ।


Q-E. पहले मुझे बिटकॉइन में ₹500 का घाटा हो गया फिर मुझे बिटकॉइन में ₹1000 का फायदा हो गया तो टैक्स किस पर लगेगा ?

Ans:- टैक्स ₹1000 के लाभ  (Profit )  पर लगेगा और ₹500 का घाटा भूल जाए ।

भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स

हम जो भी आपको जानकारी दे रहे हैं आने वाले टाइम में जैसे जैसे भारत में क्रिप्टोकरंसी टैक्स पर हमें अपडेट मिलते जाएंगे हम इस वेबसाइट पर आपको इसी प्रकार अपडेट देते रहेंगे कृपया करके बैल आइकन दबा कर हमें सब्सक्राइब करना ना भूले

Sharing is caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *